Breaking

Primary ka master youtube channel please Subscribe and press bell notification icon

यह ब्लॉग खोजें

Primary Ka Master | Education News | Employment News latter 👇

19 जून 2022

हाईस्कूल में प्रिंस और इंटर में दिव्यांशी हुई टॉपर, देखे लिस्ट | Prince in high school and Divyanshi topper in Inter, see list

Prince in high school and Divyanshi topper in Inter, see list
प्रयागराज, । उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) हाईस्कूल और इंटरमीडिएट- 2022 का परीक्षा परिणाम शनिवार को घोषित कर दिया गया। हाईस्कूल में अनुभव इंटर कालेज मुरलीपुर अर्रा कानपुर नगर के प्रिंस पटेल ने 97.67 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रदेश में टाप किया है, तो इंटरमीडिएट में जय मां सरस्वती ज्ञान मंदिर इंटर कालेज, राधानगर फतेहपुर की दिव्यांशी का डंका प्रदेश में बजा है। दिव्यांशी को 95.40 प्रतिशत अंक मिले हैैं। हाईस्कूल और इंटर में दूसरे स्थान पर संयुक्त रूप से दो-दो परीक्षार्थियों ने जगह बनाई है।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की अध्यक्ष डा. सरिता तिवारी ने सचिव दिब्यकांत शुक्ल के साथ परिषद सभागार में दोपहर दो बजे हाईस्कूल और शाम चार बजे इंटरमीडिएट का परिणाम घोषित किया। हाईस्कूल का परिणाम 88.18 प्रतिशत और इंटरमीडिएट का 85.33 प्रतिशत रहा। प्रदेश की मेरिट सूची में हाईस्कूल में 97.50 प्रतिशत अंक प्राप्त कर एसवीएम इंटर कालेज गुलाबबाड़ी मुरादाबाद की संस्कृति ठाकुर और शिवाजी इंटर कालेज 782 अर्रा, कानपुर नगर की किरन कुशवाहा ने संयुक्त रूप से दूसरा स्थान हासिल किया। तीसरे स्थान पर 97.33 प्रतिशत अंक प्राप्त कर सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज तिर्वा, कन्नौज के अनिकेत शर्मा रहे।

इसी तरह इंटरमीडिएट में बच्चा राम यादव इंटर कालेज भुलई का पूरा, प्रयागराज की अंशिका यादव और श्री साईं इंटर कालेज लखपेड़ाबाग, बाराबंकी के योगेश प्रताप सिंह ने 95 प्रतिशत अंक के साथ संयुक्त रूप से दूसरा स्थान पाया। तीसरा स्थान 94.20 प्रतिशत अंक हासिल कर एसबीएम इंटर कालेज रघुवंशपुरम, फतेहपुर के बालकृष्ण ने प्राप्त किया।

हाईस्कूल और इंटर दोनों में बालिकाओं का डंका : हाईस्कूल की परीक्षा में 13,71,862 बालक और 11,48,772 बालिकाएं सम्मिलित हुई थीं। इसमें 85.25 प्रतिशत बालक उत्तीर्ण हुए हैैं, जबकि बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 91.89 है, जो बालकों से 6.44 प्रतिशत अधिक है। इसी तरह इंटरमीडिएट की परीक्षा में 12,07,451 बालक और 10,30,127 बालिकाएं शामिल हुई थीं। इसमें 81.21 प्रतिशत बालक और 90.15 प्रतिशत बालिकाएं सफल हुई हैं।

इंटर में बालिकाओं का सफलता प्रतिशत बालकों की तुलना में 6.27 प्रतिशत अधिक है। इस तरह हाईस्कूल और इंटर दोनों में बेटियों ने बेटों को पीछे छोड़ दिया है। हाईस्कूल में कुल 27,81,645 और इंटर में कुल 24,10,971 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट को मिलाकर 4,16,940 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी।

लिखित परीक्षा के बाद हुई थी प्रायोगिक परीक्षा : इस बार बोर्ड की लिख्रित परीक्षा के बाद प्रायोगिक परीक्षा कराई गई थी। लिखित परीक्षा 24 मार्च से 12 अप्रैल तक प्रस्तावित थी, लेकिन इंटरमीडिएट में अंग्रेजी का प्रश्नपत्र आउट हो जाने पर उसे 13 अप्रैल को कराए जाने के साथ परीक्षा संपन्न हुई थी।

प्रायोगिक परीक्षा दो चरणों में कराई गई। पहले चरण में 20 से 27 अप्रैल और दूसरे चरण की प्रायोगिक परीक्षा 28 अप्रैल से 04 मई तक तक चली थी। वंंचित परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा 17 से 20 मई के मध्य संपन्न कराई गई। इस बार प्रायोगिक परीक्षा के साथ मूल्यांकन कार्य भी चला। 23 अप्रैल से शुरू हुआ मूल्यांकन सात मई को संपन्न हुआ।

Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,

close