Breaking

Primary Ka Master | Education News | Employment News latter

Blog Search

25 नव॰ 2022

बड़ी कार्यवाही :- 12 शिक्षकों समेत 21 लोगों की रोक दी गई सैलरी, जाने पूरा मामला ?

यूपी के लखीमपुर खीरी में गुरुवार को पहले शहीदी दिवस का स्कूलों में अवकाश था। इसके बाद देर शाम आए आदेश के बाद अवकाश रद्द कर दिया गया। इसके बाद भी शिक्षक स्कूलों में नहीं पहुंचे। इस बीच विभाग ने गुरुवार को रमियाबेहड़ व निघासन ब्लॉक के स्कूलों के निरीक्षण का सघन अभियान चला दिया। बीएसए सहित सभी बीईओ व जिला समन्वयकों की टीम ने स्कूलों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में निघासन में छह, रमियाबेहड़ में छह शिक्षक, छह शिक्षामित्र, दो अनुदेशक व एक अनुचर अनुपस्थित मिला। सभी का एक दिन का वेतन व मानदेय रोकते हुए स्पष्टीकरण तलब किया गया है।

अवकाश तालिका में 24 नवम्बर को शहीदी दिवस का अवकाश शामिल था। बताया जाता है कि अवकाश होने के कारण शिक्षक छुट्टी मनाने लगे। इस बीच बुधवार की शाम को सरकार का आदेश आ गया कि शहीदी दिवस का अवकाश अब 28 अक्तूबर को रहेगा। एडीएम संजय सिंह ने डीएम की ओर से आदेश जारी कर दिया कि गुरुवार को सभी कार्यालय पूर्व की तरह खुलेंगे और कामकाज होगा। अवकाश निरस्त होने के बाद कार्यालयों आदि में तो कर्मचारी पहुंच गए लेकिन शिक्षकों ने अवकाश मनाना शुरू कर दिया।

देर रात अवकाश निरस्त होने का आदेश व्हाट्सएप के माध्यम से शिक्षकों तक पहुंचा तो ज्यादातर शिक्षक तो स्कूलों को पहुंच गए लेकिन कुछ छुट्टी मनाते रहे। बताते हैं कि गैर जिले के कई शिक्षक अपने घरों को चले गए। इस बीच गुरुवार को बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पाण्डेय ने रमियाबेहड़ व निघासन ब्लॉक के स्कूलों का सघन निरीक्षण कराया। चूंकि एक दिन पहले शिक्षक अवकाश घोषित कर चुके थे इसलिए स्कूलों में छात्र संख्या तो कम मिली ही शिक्षक भी अनुपस्थित मिले।

बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पाण्डेय ने बताया कि निघासन ब्लॉक में छह शिक्षक अनुपस्थित मिले। वहीं रमियाबेहड़ ब्लॉक में छह शिक्षक, पांच शिक्षामित्र, दो अनुदेशक व एक अनुचर अनुपस्थित मिला। धौरहरा में एक शिक्षामित्र अनुपस्थित मिला। सभी का एक दिन का वेतन व मानदेय रोकते हुए स्पष्टीकरण तलब किया गया है।

खुद कंफ्यूज था बेसिक शिक्षा विभाग

24 नवंबर की छुट्टी को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग खुद कंफ्यूज रहा। विभाग की लिस्ट में 24 को अवकाश था। इस लिहाज से स्कूल बंद हो गए। शाम को पता चला कि शासन ने छुट्टी की तारीख बदल दी थी। बेसिक शिक्षा विभाग को इस आदेश की भनक नहीं लगी। उधर शिक्षकों का कहना है कि अवकाश निरस्त होने के बाद बीएसए के आदेश का इंतजार शिक्षक करते रहे। बीएसए डॉ.लक्ष्मीकांत पाण्डेय ने बताया कि शासन ने अवकाश निरस्त किया। जिला प्रशासन ने आदेश जारी किया। यह सभी शिक्षकों के वाट्सएप ग्रुपों पर पहुंच गया था। ज्यादातर शिक्षक स्कूलों में उपस्थित मिले। लगातार निरीक्षण चलता रहेगा।

Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,

close