Breaking

Primary Ka Master | Education News | Employment News latter

Blog Search

नौंवी कक्षा के छात्र नहीं सुना सके कविता, पूरे स्टाफ का वेतन रोका

हरदोई। राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में शैक्षिक स्तर निम्न मिलने और कक्षा नौ के छात्र एक भी कविता नहीं सुना पाएं। इसके चलते विद्यालय के सभी शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया। वहीं मॉडल विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य को पद से हटाकर दूसरे प्रवक्ता को चार्ज दे दिया गया।


जिला विद्यालय निरीक्षक बीके दुबे ने शुक्रवार को राजकीय हाईस्कूल सारीपुर छटा का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान प्रभारी प्रधानाध्यापक मुशी लाल का उपस्थिति पंजिका पर दो दिन का आकस्मिक अवकाश अंकित था। मगर इसकी सूचना विभाग को नहीं दी गई थी।

संजय कुमार के दो दिन के हस्ताक्षर नहीं थे। कक्षा नौ व 10 के कुछ बच्चे यूनीफार्म में नहीं थे। उन्होंने कक्षा नौ के बच्चों से कविता सुनाने के लिए कहा तो कोई भी छात्र कविता नहीं सुना सका। बच्चे पुस्तक में कितनी कविताएं हैं, इसको भी जानकारी नहीं दे सके।

विद्यालय के विद्यार्थियों को शैक्षिक स्तर निम्न पाया गया। विद्यालय में भारी अव्यवस्थाएं मिली। इस पर विद्यालय के सभी शिक्षकों का वेतन रोकने के निर्देश दिए। इसके साथ ही प्रभारी प्रधानाध्यापक मुशी लाल को प्रतिकूल प्रविष्ट दी गई।

पं. दीन दयाल उपाध्याय माडल स्कूल जरीआ के निरीक्षण में प्रभारी प्रधानाचार्य मुकेश कुमार, प्रवक्ता शुभम यादव, परिचारक विनय कुमार मित्र अनुपस्थित पाए गए विद्यालय परिसर गंदा पाया गया। बच्चे सामान्य ज्ञान के प्रश्नों के उत्तर नहीं दे सके।

इस पर विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य मुकेश कुमार, प्रवक्ता शुभम यादव व परिचारक विनय कुमार का वेतन रोक दिया गया साथ ही मुकेश कुमार को प्रभारी प्रधानाचार्य के पद से हटा दिया गया। विद्यालय प्रधानाचार्य का प्रभार प. दीनदयाल उपाध्याय माडल विद्यालय खसरोल के प्रभारी प्रधानाचार्य को अतिरिक्त रूप में दिया होगा

Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,

close